9.Ramana Maharishi || 2019 || Jesus & Siddhi || Ashish Shukla from Deep Knowledge

29 thoughts on “9.Ramana Maharishi || 2019 || Jesus & Siddhi || Ashish Shukla from Deep Knowledge”

  1. सर आप ने रमण महाऋषि को फिर से जीवंत किया आप का बहुत बहुत धन्यवाद❤❤💚💚💙💙😘

  2. योगानंद कोई सिद्ध नही थे न कोई उपलब्ध पुरूष थे -वे एक सच्चे साधक थेे राह के अन्वेषी । उनकी ऑटोबायोग्राफी टोटल चमत्कारो से भरी पड़ी है । शायद यही कारण था कि वह भारत ही नही विदेशियों में काफी बेस्टसेलर बनी । ईवान जैसे कई लोग है इस धरती पे ।

  3. सिद्धि से ज्यादा जरूरी है । एक अच्छा इंसान बनने की ।

  4. यिशू मसीह के बारे मे हिन्दु कट्टरपंथी लोगबहुत गलत प्रचार करते हैं ईस देश में जय श्री कृष्ण

  5. Mere ko pata hai ke true path kounsa hai par mai os par chl nahi sakta.can u help me or os rasy mai mere ko buhat koch acha acha experince hoa hai can t tell.

  6. बहुत ही सुन्दर बीचार ओर वीडियो है, बहुत अच्छे से समझ में आया कि जब हम सपीरीचल जरनी में होते हैं तो सीधीया आती है, लेकिन हमे उसमें ट्रेरेप नहीं होना है, ओर हमारी मंजिल ओर भी आगे जाने की है ।

  7. शूक्ष्म जगत,कारण शरीर,मनस शरीर,कॉस्मिक शरीर क्या असल में अस्तित्व में है,या यह केवल बुद्ध पुरषों ने प्रतीकात्मक या काल्पनिक तौर पे हमे संकेत दिया है,और क्या केवल अधयातमिक जागृत होना ही जीवन का परम लक्ष्य है,या उस जागृति के माध्यम से संसार को भी जागृत करना है,मगर आज अधिकतर लोग अपने तक ही ध्यान करने में सक्षम है,क्या अधयातम केवल अपनी जागृति तक ही सीमत है,या इसका दायरा इससे भी विशाल है।

  8. आप परमहंस योगानंद की बुक दी ऑटोबायोग्राफी ऑफ अ योगी का रिव्यु कीजिये,क्या उसमें बताई हूई सिद्धियां और चमत्कार झूठ है, या जैसे आप बता रहे है रमन महृषि के अनुसार इन सिद्धियों का अधयातम में कोई स्थान नही है,परमहंस योगानंद और रमन महृषि दोनो ही जागृत महापुरष थे,कृपया आप इस विषय पर कोई वीडियो सेशन शुरू करे।

  9. मेरे नजदीक गांव के एक होनहार परास्नातक के छात्र ने न जाने किस अंन्तःप्रेरणा से अपने बाग में एक गुफा खोदी और प्रतिदिन उसमें लंबे समय तक बैठकर कोई साधना शुरू कर दी । एक समय पश्चात उनकी सिद्धियों की चर्चा दूर दूर तक फैल गई ।
    बड़े बड़े ख्याति प्राप्त लोग भी उनका आशीर्वाद लेने वहां आये ।बाग़ में एक अच्छा आश्रम बन गया और प्रतिवर्ष वहां एक बड़ा सा भण्डारा भी होने लगा ।
    कुछ वर्षों पश्चात बाबा जी का समय ढल गया ।केवल कुछ गिने-चुने लोग ही उनकी सेवा में रहने लगे । वो नशे के घोर आदी हो गये ।अंततः एक रात्रि किसी ने उनके शरीर का अंत कर दिया ।

    संभवतः वो अपनी सिद्धियो के
    प्रति सजग नहीं रह पाये !

  10. please make any video How to get supernatural powers like lucy …..
    no true video about this topic please make any video

  11. मेरी उत्सुकता रमण महर्षि के बारे में बढ़ गई है,आपके पास से काफी कुछ जानने को मिला है । धन्यवाद

  12. खूब गहरा समाधान मिला सर नमन नमन नमन सर आपको

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *